divi-header-bg

*** अन्य गद्य विधायें

आधुनिक युग में गद्य का महत्त्व बहुत बढ़ गया है. इसका अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने आधुनिक काल को गद्यकाल भी कहा है. ऐसा कहा जाता है कि जीवन में आए नए विस्तार और परिवर्तन को गद्य का माध्यम अधिक आसानी से व्यक्त कर सकता है. इसी कारण आधुनिक युग में गद्य की अनेक विधायें उत्पन्न हुई हैं. निबंध, उपन्यास, कहानी इत्यादि. यहां कुछ अन्य विधाओं पर विचार किया जाएगा.

गद्यकाव्य

रेखाचित्र

संस्मरण

जीवनी

आत्मकथा


डायरी

रिपोर्ताज

यात्रा वृत्तांत

पत्र