divi-header-bg

सिर्फ़ नाम बताइए


नौकरी की अर्जी भरते हुए
बैंक की पर्ची भरते हुए
परिचय के समय नाम बताते हुए
मुझसे क्यों कहा जाता है
“पूरा नाम बताइए”
क्यों नाम के लिए जाति
किसी पूरक का काम करती है
क्यों संविधान ने आरक्षण लागू किया
पर नहीं बनाया वह कानून
जिसमें मोटे-मोटे अक्षरों में लिखा जाता
“केवल नाम लिखें, जाति नहीं”
शायद तभी धीरे-धीरे खत्म हो जाते
विमर्श के कई मुद्दे
जिनको हमने मिटने नहीं दिया!